Header

Sankat Mochan Hanuman ashtak

Sankat Mochan Hanuman ashtak: बाल समय रवि भक्षी लियो तब, तीनहुं लोक भयो अंधियारों I ताहि सों त्रास भयो जग को, यह संकट काहु सों जात  न टारो I देवन…
Continue Reading