chalisa sangrah

श्री राम चालीसा / Sh. Ram Chalisa

श्री राम चालीसा दोहा गणपति चरण सरोज गहि । चरणोदक धरि भाल ।। लिखौं विमल रामावली । सुमिरि अंजनीलाल ।। राम चरित वर्णन करौं । रामहिं हृदय मनाई ।। मदन…
Continue Reading
chalisa sangrah

श्री गिरिराज जी चालीसा / Sh. Giriraj Chalisa

श्री गिरिराज जी चालीसा दोहा बँडहू वीदा वाडिनी, धरी गणपति को धीयाना | महाशक्ति राधा सहित, कृशन करो कल्लयन || चौपाई जय हो जय बंधित्त डिरिराजा | वाज्रर मंडल के…
Continue Reading
chalisa sangrah

श्री गुरु गोरख नाथ चालीसा / Sh. Guru Gorakhnath Chalisa

श्री गुरु गोरख नाथ चालीसा   दोहा गणपति गिरजा पुत्रा को, सुमृू बरमम्बर | हाथ जोड़ बिनटी करू, सारद नाम आधार || चौपाई जय जय जय गोरख अविनसी | किरपा…
Continue Reading
chalisa sangrah

श्री तुलसी चालीसा / Sh. Tulsi Chalisa

श्री तुलसी चालीसा दोहा जयजयतुलसीभगवतीसत्यावतीसुखड़ानी नामोनामोहरीप्रियासीश्रीवृंदागुणख़नी श्रीहरीशीशबिराजीनी, दहूअमरवारआंब जनहितहेवृंदवणीअबनकराहूविलंब   चौपाई धन्यधन्यश्रीतुलसीमाता , महिमाअगमसदाश्रुतिगाता हरीकेप्रानहूसेतुमप्यारी, हरीहिहेतुकिन्होतापभारी जबप्रसन्नहैदर्शनडीनहयो, तबकरज़ोरीविनयउसकिन्यो हेभगवंतकांतममहोहू , दींजानीजानीचाड़हूछोहू सुनीलक्ष्मीतुलसीकीबनी, डीन्ोश्रापकढ़पेरआनी. उसअयोग्यावारमाँगणहारी , होहूविटपतुमजड़टानूधरी सुनीतुलसिहीश्रपयोतहीथमा , कारहूवासटूहुनीचनधमा डियोवचनहरीतबतत्कला…
Continue Reading
chalisa sangrah

श्री गंगा चालीसा / Sh. Ganga Chalisa

श्री गंगा चालीसा दोहा जय जय जय जग पावनी जयति देवसरि गंग। जय शिव जटा निवासिनी अनुपम तुंग तरंग॥ चौपाई जय जग जननि अघ खानी, आनन्द करनि गंग महरानी। जय…
Continue Reading