श्री राम चालीसा / Sh. Ram Chalisa

श्री राम चालीसा दोहा गणपति चरण सरोज गहि । चरणोदक धरि भाल ।। लिखौं विमल रामावली । सुमिरि अंजनीलाल ।। राम चरित वर्णन करौं ।...

श्री तुलसी चालीसा / Sh. Tulsi Chalisa

श्री तुलसी चालीसा दोहा जयजयतुलसीभगवतीसत्यावतीसुखड़ानी नामोनामोहरीप्रियासीश्रीवृंदागुणख़नी श्रीहरीशीशबिराजीनी, दहूअमरवारआंब जनहितहेवृंदवणीअबनकराहूविलंब   चौपाई धन्यधन्यश्रीतुलसीमाता , महिमाअगमसदाश्रुतिगाता हरीकेप्रानहूसेतुमप्यारी, हरीहिहेतुकिन्होतापभारी जबप्रसन्नहैदर्शनडीनहयो, तबकरज़ोरीविनयउसकिन्यो हेभगवंतकांतममहोहू , दींजानीजानीचाड़हूछोहू सुनीलक्ष्मीतुलसीकीबनी, डीन्ोश्रापकढ़पेरआनी. उसअयोग्यावारमाँगणहारी ,...

श्री गंगा चालीसा / Sh. Ganga Chalisa

श्री गंगा चालीसा दोहा जय जय जय जग पावनी जयति देवसरि गंग। जय शिव जटा निवासिनी अनुपम तुंग तरंग॥ चौपाई जय जग जननि अघ खानी,...